LIC Jeevan Akshay VII

By | August 25, 2020

LIC Jeevan Akshay VII, Table No. 857 – मापदंड, लाभ, विशेषताएं, उदाहरण सहित चर्चा हिंदी में


आज हम LIC Jeevan Akshay VII जिसे LIC of India 25, August 2020 को शुरू करने जा रही है, यह प्लान पहले जीवन अक्षय VI के नाम से थी LIC ने इसे 2018 में बंद कर दिया था और अब LIC Jeevan Akshay VII को launch कर रही है और साथ ही LIC के जीवन शांति प्लान 850 को बंद भी कर रही है, LIC Jeevan Akshay VII योजना में Loan तथा पालिसी को surrender करने की भी सुविधा दी गई है।

LIC Jeevan Akshay VII, table no 857
LIC Jeevan Akshay VII

LIC न्यू प्लान जीवन अक्षय तालिका संख्या 857 एक सिंगल प्रीमियम पेंशन प्लान है इस प्लान में आप एक बार एकमुश्त राशि का भुगतान कर सकते हैं और LIC of India आपको जीवन भर पेंशन देती है एलआईसी जीवन अक्षय VII, 10 विकल्पों के साथ आती है। आप ऐसे विकल्प का भी चुनाव कर सकते हैं जहां आपके बाद आपके पति या पत्नी को भी पेंशन मिलेगी। एलआईसी जीवन अक्षय 7 के विभिन्न विकल्पों पर हम आगे विस्तार से चर्चा करेंगे।

LIC Jeevan Akshay VII Plan 857 Video

एलआईसी जीवन अक्षय VII मापदंड (LIC Jeevan Akshay VII Parameters in Hindi)


न्यूनतम प्रवेश आयु (Minimum Entry Age) 30 वर्ष
अधिकतम प्रवेश आयु (Maximum Entry Age) विकल्प F के लिए 100 वर्ष, अन्य विकल्पों के लिए 85 वर्ष. विकल्पों के बारे में बाद में विस्तार से चर्चा करेंगे।
न्यूनतम निवेश (Minimum Purchase Price) 1.5 लाख रुपये (ऑनलाइन खरीदने पर), और ऑफलाइन माध्यम से खरीदने पर 1 लाख रुपये, लेकिन न्यूनतम पेंशन मासिक 1,000, तिमाही 3,000, अर्ध वार्षिक 6,000 तथा वार्षिक 12,000 होनी जरुरी है
अधिकतम निवेश (Maximum Purchase Price) कोई सीमा नहीं
पेंशन भुगतान (Pension Mode)मासिक (monthly), तिमाही (quarterly), छमाही (half-yearly) या वार्षिक (annual) पेंशन पाने का विकल्प हैं।
लोन (Loan)LIC के Jeevan Akshay VII में लोन सुविधा भी उपलब्ध है। Loan is available under LIC Jeevan Akshay VII
(कर) GSTआपके प्रीमियम पर 1.8% GST लगता है। अगर आप 10 लाख रुपये का प्लान खरीदना चाहते हैं, तो आपको 10 लाख 18 हजार रूपये देने होंगे मतलब 18,000 रुपये का GST
मेडिकल टेस्ट (Medical Test)LIC जीवन अक्षय 7 प्लान लेते समय किसी मेडिकल जांच की ज़रुरत नहीं है।

यह भी पढ़ें LIC के इस योजना में पायें 7.66% सालाना ब्याज

अधिक जानकारी के लिए आप LIC की वेबसाइट पर भी जा सकते हैं।

LIC जीवन अक्षय VII में कितना ब्याज मिलता है?


एलआईसी जीवन अक्षय 7 एक एन्युटी प्लान (Annuity plan) है। ध्यान से देखें तो, जीवन अक्षय 857 किसी Fixed Deposit की तरह बिल्कुल भी नहीं है

Fixed deposit में आपको नियमित तौर पर ब्याज मिलता है। FD पूरी होने पर आपको आपका पैसा लौटा दिया जाता है। आप चाहें तो अपने पैसे को दोबारा से निवेश कर सकते हैं। परन्तु इस बात की कोई गारंटी नहीं है की आपको ब्याज की दर कम मिलेगी या ज्यादा।

एलआईसी जीवन अक्षय 7 में ऐसा हमेशा नहीं होता। जैसे की ऊपर चर्चा की है, जीवन अक्षय 857 में 10 विकल्प हैं और सभी विकल्पों में अलग-अलग पेंशन है।

  1. यदि आपकी आयु 60 वर्ष है तो इस योजना के विकल्प A में आपको 1 लाख के निवेश राशी पर 8,000 रुपये प्रति वर्ष पेंशन मिलेगी।
  2. ऊपर लिखी हुई राशि वार्षिक पेंशन के लिए है मासिक, तिमाही या छमाही राशियाँ अलग होंगी।
  3. आप इस प्लान में देखेंगे की सभी विकल्पों की ब्याज दर (एन्युटी रेट) बिलकुल अलग है।
  4. ब्याज दर आपकी आयु के साथ बढती है कम आयु पर एन्युटी खरीदने पर ब्याज दर कम होती है
  5. आपको पूरे जीवन पेंशन मिलती रहेगी। आप चाहें 80 वर्ष तक जीयें, या 100 वर्ष तक या 120 वर्ष तक। LIC आपको इसी ब्याज दर के अनुसार ब्याज देती रहेगी।
  6. 10 लाख या अधिक निवेश करने पर कुछ अतिरिक्त पेंशन मिलेगी। अब हम LIC के jeevan akshay VII, plan 857 के सभी विकल्पों की चर्चा करेंगे

यह भी पढ़ें प्रधान मंत्री अटल पेंशन योजना

विकल्प (A): Annuity for Life Time


इस विकल्प में आपको जीवन भर पेंशन मिलेगी। आपको एक बार भुगतान करना है।

Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): आपको जीवन भर पेंशन मिलेगी। आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): पालिसी धारक की मृत्यु होने पर नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा। ना ही पेंशन मिलेगी और ना ही रुपये वापिस मिलेंगे।

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस पालिसी में किसी भी प्रकार की मेच्योरिटी नहीं मिलती है क्योंकि पेंशन पूरे जीवन चलेगी।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): आप इस प्लान के विकल्प (A) को सरेंडर नहीं कर सकते, निवेश किया हुआ पैसा आपको या आपके नॉमिनी को कभी भी वापिस नहीं मिलेगा।

उदहारण (Example)

एक 60 वर्षीय व्यक्ति विकल्प (A) में 10 लाख रुपये निवेश करता है 1.8% GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा

विकल्प A के अनुसार आपको 10 लाख रुपये निवेश करने पर 80,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

क्योंकि आपने 10 लाख रुपये निवेश किये हैं, तो आपको 80,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

आपको यह पेंशन पूरे जीवनभर मिलेगीआपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा ना ही पेंशन मिलेगी और ना रुपये वापिस मिलेंगे।

विकल्प B, C, D और E: Annuity payable for 5, 10, 15 or 20 years certain and thereafter as long as the annuitant is alive


Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): इसमें आपको या आपके परिवार को निर्धारित समय तक पेंशन मिलेगी। निर्धारित अवधि के बाद, जब तक आप जीवित हैं आपको तब तक पेंशन मिलेगी|

अगर निर्धारित अवधि से पहले मृत्यु हो जाती है, तो निर्धारित अवधि तक आपके परिवार को पेंशन मिलेगी। इसका मतलब आप जीवित रहे या ना रहे, आपके परिवार (या आपको) को कम से कम निर्धारित अवधि तक पेंशन मिलती रहेगी

निर्धारित अवधि के 4 विकल्प हैं: 5 वर्ष, 10 वर्ष, 15 वर्ष और 20 वर्ष। आप कोई भी विकल्प का चुनाव कर सकते हैं। जितनी कम निर्धारित अवधि होगी, उतनी ही अधिक पेंशन राशी मिलेगी

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निर्धारित अवधि से पहले मृत्यु होने पर नॉमिनी को निर्धारित अवधि तक पेंशन मिलती रहेगी और बचे हुए सालों की पेंशन नॉमिनी को मिलेगी, निर्धारित अवधी पूरी होने के बाद पेंशन रुक जायेगी।

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस पालिसी में किसी भी प्रकार की मेच्योरिटी नहीं मिलती है।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): आप इस प्लान के विकल्प B, C, D और E को सरेंडर नहीं कर सकते, निवेश किया हुआ पैसा आपको या आपके नॉमिनी को कभी भी वापिस नहीं मिलेगा।

उदहारण (Example)

55 वर्षीय व्यक्ति विकल्प B में 10 लाख रुपये निवेश करता है। 1.8% GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा।

15 वर्ष की निर्धारित अवधि का चुनाव करने पर आपको 10 लाख रुपये निवेश करने पर 78,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

आपको यह पेंशन पूरे जीवनभर मिलेगी परन्तु अगर आपकी मृत्यु 10 वर्ष बाद हो जाती है, तो आपके नॉमिनी को बचे हुए 5 वर्ष तक पेंशन मिलेगीनिर्धारित अवधि के बाद नॉमिनी की पेंशन रोक दी जायेगी|

अगर मृत्यु 15 वर्ष के बाद होती है, तो मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

विकल्प (F): Annuity for life with return of purchase price on death of the annuitant


Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): आपको पूरे जीवन पेंशन मिलेगी, आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निवेशक की मृत्यु होने पर पेंशन का भुगतान रुक जाएगा और नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जाएगी। अगर आपने 10 लाख रुपये का प्लान लिया है, तो नॉमिनी को 10 लाख रुपये लौटा दिए जायेंगे|

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): क्योंकि पेंशन पूरे जीवन चलेगी इसलिए इस योजना में किसी भी प्रकार की maturity नहीं दी जाती है।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ)
आप इस प्लान के विकल्प (F) को लेने के 3 महीने बाद आप पालिसी को सरेंडर कर सकते हैं

Loan Benefit (लोन लाभ)
आप इस प्लान के विकल्प (F) को लेने के 3 महीने बाद आप पालिसी पर loan भी ले सकते हैं

एलआईसी जीवन अक्षय के विकल्प F को सरेंडर करने पर मिलने वाली राशि सरेंडर के समय एक फोर्मुले पर निर्भर करता है। लेकिन फिर भी जमा किये गए मूल राशी का 95% राशी आपको मिल जाएगी।

उदहारण (Example)

एक 56 वर्षीय व्यक्ति विकल्प (F) में 10 लाख रुपये निवेश करता है 1.8% GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा

आपको 10 लाख रुपये निवेश करने पर 56,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

आपको यह पेंशन पूरे जीवनभर मिलेगी। आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी। मृत्यु पर निवेश राशि आपके नॉमिनी को 10 लाख रुपये लौटा दिए जायेंगे।

विकल्प A और विकल्प F में केवल यही अंतर है की विकल्प A में नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलता है, जबकि विकल्प F में नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जाती है। इसलिए विकल्प F की ब्याज दर भी कम है। इसलिए इस विकल्प को सभी लोग लेना पसंद करते है।

विकल्प (G): Annuity payable for life increasing at a simple rate of 3% p.a.


Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): आपको पूरे जीवन पेंशन मिलेगी। हर वर्ष आपकी पेंशन की राशि 3% से बढ़ जायेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निवेशक की मृत्यु होने पर पेंशन का भुगतान रुक जाएगा और नॉमिनी को कुछ भी नहीं दिया जाएगा।

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस पालिसी में किसी भी प्रकार की मेच्योरिटी नहीं मिलती है क्योंकि पेंशन पूरे जीवन चलेगी।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): आप इस प्लान के विकल्प (G) को सरेंडर नहीं कर सकते, निवेश किया हुआ पैसा आपको या आपके नॉमिनी को कभी भी वापिस नहीं मिलेगा।

उदहारण (Example)

एक 60 वर्षीय व्यक्ति विकल्प (G) में 10 लाख रुपये निवेश करता है और 1.8% GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा।

आपको 10 लाख रुपये निवेश करने पर 50,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

पहले वर्ष 50,000 रुपये की पेंशन मिलेगी दुसरे वर्ष पेंशन राशि 3% बढ़कर 51,500 रुपये हो जायेगी और तीसरे वर्ष 51,545 रुपये की पेंशन मिलेगी और यह हर साल बढती रहेगी आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और आपके नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा

विकल्प (H) Annuity for life with a provision of 50% of the annuity payable to spouse during his/her lifetime on death of the annuitant


Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): निवेशक को आजीवन पेंशन मिलेगी। निवेशक की मृत्यु के बाद पत्नी (या पति) को आजीवन पेंशन मिलेगी पत्नी या पति को केवल 50% पेंशन राशि ही मिलेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निवेशक की मृत्यु होने पर पत्नी (या पति) को 50% पेंशन का भुगतान किया जाएगा।

Secondary पेंशन धारी की मृत्यु के बाद नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

अगर पत्नी (या पति) की मृत्यु निवेशक से पहले हो जाती है, तो निवेशक की मृत्यु पर पेंशन रोक दी जायेगीऔर नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस पालिसी में किसी भी प्रकार की मेच्योरिटी नहीं मिलती है क्योंकि पेंशन पूरे जीवन चलेगी।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): इस योजना में सरेंडर करने का विकल्प नहीं है।

उदाहरण (Example)

एक 55 वर्षीय व्यक्ति विकल्प H में 10 लाख रुपये निवेश करता है। GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा

10 लाख रुपये निवेश करने पर आपको 75,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

आपको पूरे जीवन यह पेंशन मिलेगी आपके बाद आपकी पत्नी (या पति) को आजीवन इसकी आधी पेंशन मिलेगी, आपके बाद आपकी पत्नी को 75,000 * 50% = 37,500 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी

आपकी पत्नी की मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

अगर आपकी पत्नी की मृत्यु आप से पहले हो जाती है, तो आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और जमा राशी वापिस नहीं दी जाएगी।

विकल्प (I) Annuity for life with a provision of 100% of the annuity payable to spouse during his/her lifetime on death of the annuitant


Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): निवेशक को आजीवन पेंशन मिलेगी, निवेशक की मृत्यु के बाद पत्नी (या पति) को आजीवन पेंशन मिलेगी, पत्नी या पति को भी 100% पेंशन राशि मिलेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निवेशक की मृत्यु होने पर पत्नी (या पति) को 100% पेंशन का भुगतान किया जाएगा।

Secondary पेंशन धारी की मृत्यु के बाद नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

अगर पत्नी (या पति) की मृत्यु निवेशक से पहले हो जाती है, तो निवेशक की मृत्यु पर पेंशन रोक दी जायेगीऔर नॉमिनी को कुछ भी नहीं मिलेगा।

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस पालिसी में किसी भी प्रकार की मेच्योरिटी नहीं मिलती है क्योंकि पेंशन पूरे जीवन चलेगी।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): सरेंडर करने का विकल्प नहीं है।

उदहारण (Example)

एक 55 वर्षीय व्यक्ति विकल्प I में 10 लाख रुपये निवेश करता है, GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा

10 लाख रुपये निवेश करने पर आपको 72,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी।

आपको पूरे जीवनभर यह पेंशन मिलेगी, आपके बाद आपकी पत्नी (या पति) को आजीवन 100% पेंशन मिलेगी, आपके बाद आपकी पत्नी को भी 72,000 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी

अगर आपकी पत्नी की मृत्यु आप से पहले हो जाती है, तो आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और जमा राशी वापिस नहीं दी जाएगी।

विकल्प (J) Annuity for life with a provision of 100% of the annuity payable to spouse during his/ her life time on death of annuitant. returned purchase price on the death of last survivor


विकल्प H और I में पति और पत्नी की मृत्यु के बाद आपके परिवार को कुछ भी नहीं मिलता लेकिनविकल्प J में अंतर यह है की पति और पत्नी की मृत्यु के बाद नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जाती है

Pension Benefit (पेंशन बेनिफिट): निवेशक की मृत्यु के बाद उनकी पत्नी (या पति) को पेंशन मिलेगी। पत्नी (पति) को उतनी ही पेंशन जारी रहेगी।

पत्नी की मृत्यु के बाद पेंशन रोक दी जायेगी अगर पत्नी (या पति) की मृत्यु निवेशक से पहले हो जाती है, तो निवेशक की मृत्यु पर पेंशन रोक दी जायेगी।

Death Benefit (मृत्यु लाभ): निवेशक की मृत्यु होने पर पत्नी (या पति) को 100% पेंशन का भुगतान किया जाएगा। पत्नी की मृत्यु के बाद नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जायेगी

अगर पत्नी (या पति) की मृत्यु निवेशक से पहले हो जाती है, तब निवेशक की मृत्यु पर नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जायेगी

Maturity Benefit (परिपक्वता लाभ): इस विकल्प में किसी भी प्रकार की maturity नहीं है केवल निवेशक और Secondary पेंशन धारी (दोनों की) की मृत्यु पर नॉमिनी को निवेश राशि लौटा दी जायेगी।

Surrender Benefit (सरेंडर लाभ): आप इस प्लान के विकल्प (J) को लेने के 3 महीने बाद आप पालिसी को सरेंडर कर सकते हैं

Loan Benefit (लोन लाभ): आप इस प्लान के विकल्प (F) को लेने के 3 महीने बाद आप पालिसी पर loan भी ले सकते हैं

एलआईसी जीवन अक्षय के विकल्प J को सरेंडर करने पर मिलने वाली राशि सरेंडर के समय एक फोर्मुले पर निर्भर करता है। लेकिन फिर भी जमा किये गए मूल राशी का 95% राशी आपको मिल जाएगी।

उदहारण (Example)

एक 60 वर्षीय व्यक्ति विकल्प 7 में 10 लाख रुपये निवेश करता है GST मिलाकर उन्हें 10.18 लाख रुपये का भुगतान करना होगा

ऊपर टेबल देखें में (60 वर्ष की आयु और विकल्प 6) 6,240 रुपये लिखा हुआ है। आप 1 लाख रुपये निवेश करने पर 6,240 रुपये की वार्षिक पेंशन पायेंगे।

10 लाख रुपये निवेश करने पर आपको 62,400 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी

आपके पूरे जीवन यह पेंशन मिलेगी और आपके बाद आपकी पत्नी (या पति) को आजीवन इतनी ही पेंशन मिलेगी आपके बाद आपकी पत्नी को आजीवन 62,400 रुपये की वार्षिक पेंशन मिलेगी

आपकी पत्नी की मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी और नॉमिनी को 10 लाख रुपये लौटा दिए जायेंगे

अगर आपकी पत्नी की मृत्यु आपसे पहले हो जाती है, तो आपकी मृत्यु के बाद पेंशन रुक जायेगी। नॉमिनी को 10 लाख रुपये लौटा दिए जायेंगे।

एलआईसी जीवन अक्षय टैक्स बेनिफिट


एलआईसी जीवन अक्षय में निवेश करने पर आपको सेक्शन 80CCC के तहत टैक्स बेनिफिट मिलता है। परन्तु जो पेंशन मिलती है, उस पर आपको अपने Tax slab के अनुसार टैक्स देना होता है।

एलआईसी जीवन अक्षय प्लान कैसे खरीदें?


आप यह प्लान LIC शाखा में जा कर या किसी LIC एजेंट की सहायता से खरीद सकते हैं। आप एलआईसी जीवन अक्षय प्लान 7 को ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। आपको LIC की वेबसाइट पर जाना होगा।

I hope LIC Jeevan Akshay VII plan 857 के बारे में ये जानकारी अच्छी लगी होगी, अगर हाँ तो इसे अपने सभी Friends के साथ Social media पर Share जरुर करें ताकी आपकी मदद से दुसरे लोग भी इस योजना की जानकारी को पढ़ सकें, और वो इसका लाभ ले सके, कोई ऐसी जानकारी रह गयी हो और आप जानना चाहते हो तो आपके सुझाव व प्रस्ताव स्वीकार्य हैं और नीचे दिए गए comment box में टिप्पणी भी अवश्य दें!

4 thoughts on “LIC Jeevan Akshay VII

  1. NARESH

    lic jeevan akhshay plan 857
    pencalculation for option A .F.AGE 45YEARS

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *