Want to Surrender LIC policy?

By | May 14, 2019
LIC पॉलिसी सरेंडर कैसे करें?
Want to Surrender LIC policy?

Want to Surrender LIC policy? क्या आप LIC पॉलिसी सरेंडर करना चाहते हैं? पहले आपको यह जानना अति आवश्यक है। अपनी पॉलिसी को सरेंडर करने का मतलब है कि आप LIC के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट तोड़ रहे हैं और साथ ही आपका रिस्क कवर यानी बीमा भी समाप्त हो जाएगा।

Want to Surrender LIC policy? क्या आप LIC पॉलिसी सरेंडर करना चाहते हैं? तो सबसे पहले यह जान लें की आपको 3 साल बाद कुल जमा किये गए प्रीमियम का 30% ही रकम वापिस दिया जाएगा और आपकी पॉलिसी में 3 साल में कुल अर्जित बोनस का 18% ही दिया जाएगा। मतलब 3 साल में कुल जमा किये गए प्रीमियम का केवल 35% से 40% ही आपको दिया जाता है। यह प्रतिशत हर LIC पॉलिसी का अलग-अलग हो सकता है।

यह भी पढ़ें : अपनी बंद LIC पालिसी कैसे चालू करें?

यदि आप LIC पॉलिसी को 5 साल बाद सरेंडर करते हैं तो कुल जमा का 50% ही आपको वापस दिया जाता है। यह प्रतिशत अवधि बढ़ने के अनुसार बढ़ता तथा बदलता रहता है।

प्रीमियम के कम से कम तीन साल के लिए भुगतान किए जाने के बाद भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की नीतियों को आत्मसमर्पण किया जा सकता है। यदि पॉलिसीधारक तीन साल से पहले पॉलिसी सरेंडर करता है, तो कोई सरेंडर वैल्यू नहीं मिलती है। हालाँकि, पॉलिसी के आत्मसमर्पण की सिफारिश नहीं की जाती है क्योंकि समर्पण मूल्य हमेशा आनुपातिक रूप से कम होगा।

यह भी पढ़ें : LIC का बोनस कैसे कैलकुलेट करें?

यदि आप अपनी एलआईसी पॉलिसी को सरेंडर करना चाहते हैं, तो यह आपको पता होना चाहिए

LIC आत्मसमर्पण मूल्य क्या है: यह वह मूल्य है जो आपके लिए देय राशि है जिसे आपको पॉलिसी को बंद करने या कैंसिल करने पर दिया जाएगा। एलआईसी को तीन साल के प्रीमियम का भुगतान करने के बाद ही समर्पण मूल्य देय है। और कुछ पॉलिसी में यह दो साल बाद सरेंडर किया जा सकता है। यदि LIC पालिसी one time पेमेंट वाली है तो इसे 1 साल बाद सरेंडर किया जा सकता है। लेकिन LIC पालिसी को लेने के बाद यदि आप कभी भी सरेंडर करते हैं तो आपको हमेशा नुकसान ही होगा।

यह भी पढ़ें : अपनी LIC पालिसी में address कैसे change करें?

Want to Surrender LIC policy? क्या आप LIC पॉलिसी सरेंडर करना चाहते हैं? तो यह भी जान लें की यदि आप LIC की पॉलिसी को सरेंडर करने के बाद कोई दूसरी पॉलिसी लेंगे तो आपको पुरानी पॉलिसी के मुकाबले नई पॉलिसी में ज्यादा प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा और आगे का बीमा आपको बहुत अधिक प्रीमियम पर उपलब्ध होगा क्योंकि आपकी आयु पहले की पॉलिसी को लेने के बाद से बढ़ गई होगी।

यदि आपने 3 साल के प्रीमियम का भुगतान किया है, तो आप आत्मसमर्पण मूल्य प्राप्त करने के लिए पात्र हैं, जो की 3 साल में कुल जमा किये गए प्रीमियम का केवल 35% से 40% ही आपको दिया जाता है। यह राइडर, करों और एलआईसी से प्राप्त किसी भी बोनस के लिए भुगतान किए गए किसी भी अतिरिक्त प्रीमियम को भी शामिल नहीं करता है

यह भी पढ़ें : बीमा धारक की मृत्य होने पर क्लेम कैसे लें?

उदाहरण के लिए, आपका वार्षिक प्रीमियम 50,000 रु है, और आपने 5 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया है :

5 साल में कुल प्रीमियम भुगतान = 2,50,000 लाख रु.

समर्पण मूल्य प्रीमियम भुगतान का 50% से 55% होगा जिसका अर्थ है कि 2,50,000 रुपये का 50% से 55% आपको मिलेगा।  यह राशि 1,25,000 से 1,37,500 रुपये होगी। यह भी याद रखें कि यह गारंटीकृत आत्मसमर्पण मूल्य पहले से अर्जित बोनस को नहीं जोड़ेगा।

आत्मसमर्पण करने वाली एलआईसी पॉलिसी के नुकसान:

1. आपकी पॉलिसी को सरेंडर करने का मतलब है कि आप LIC के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट तोड़ रहे हैं और साथ ही आपका रिस्क कवर भी समाप्त हो जाएगा।

2. आपको 3 साल बाद कील जमा किये गए प्रीमियम का 30% ही रकम वापिस दिया जाएगा और आपकी पॉलिसी में 3 साल में कुल अर्जित बोनस का 18% ही दिया जाएगा। मतलब 3 साल में कुल जमा किये गए प्रीमियम का केवल 35% से 40% ही आपको दिया जाता है। यह प्रतिशत हर LIC पॉलिसी का अलग-अलग हो सकता है।

3. यदि आपको कल फिर से उसी बीमा कवर की तलाश करनी है, तो आप एक ही लाभ के लिए अधिक प्रीमियम का भुगतान करेंगे, क्योंकि आपकी उम्र बढ़ गई है और परिणामस्वरूप, आपके जीवन को कवर करने में जोखिम पहले से ज्यादा है।

यह भी पढ़ें : PAYTM से LIC की प्रीमियम कैसे भरें?

यह ध्यान दिया जा सकता है कि यदि प्रीमियम का भुगतान तीन साल की अवधि के लिए किया गया हो, लेकिन अप्रत्याशित परिस्थितियों के कारण, आगे भुगतान नहीं किया जा सकता है, तो आपकी पॉलिसी स्वचालित रूप से कम राशि के लिए भुगतान की गई पॉलिसी में परिवर्तित हो जाएगी, परिपक्वता की तारीख या पॉलिसीधारक की मृत्यु की स्थिति में कुछ बीमा राशि देय होगी।

यदि LIC पॉलिसी Reduce Paid Up पॉलिसी  में परिवर्तित हो जाती है तो LIC पॉलिसी सभी अतिरिक्त लाभों को खो देती है जैसे कि डबल एक्सीडेंट कवर और डिसेबिलिटी बेनिफिट इत्यादि।

उदाहरण के लिए, यदि पॉलिसी की अवधि 25 वर्ष है और Sum Assured 10 लाख रुपये है और व्यक्ति ने 10 वर्षों के लिए प्रीमियम का भुगतान किया है, तो इस पॉलिसी की बीमा राशि 10 लाख से कम होकर  5 लाख रुपये के बीमित राशि तक कम हो जाएगी। इस प्रकार की LIC पॉलिसी की स्थति को पेड-अप पॉलिसी कहा जाता है।

एलआईसी पॉलिसी सरेंडर करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

LIC पालिसी सरेंडर कैसे करें? अपनी मौजूदा पॉलिसी को सरेंडर करने के लिए आपको LIC सरेंडर फॉर्म और NEFT फॉर्म भरना होगा। इन फॉर्म के साथ आपको अपने पैन कार्ड की कॉपी और मूल पॉलिसी के दस्तावेज देने होंगे।  एलआईसी को एक हस्तलिखित पत्र लिखें कि आप क्यों LIC POLICY बंद करना चाहते हैं। सभी दस्तावेजों को संलग्न करें और इसे पंजीकृत डाक या कूरियर के माध्यम से भेजें या अपने मूल LIC शाखा में जमा करें। अनुरोध स्वीकार होने के बाद आपकी राशि को आपके बैंक खाते में भेजा जाएगा।

I hope ” Want to Surrender LIC policy? क्या आप LIC पॉलिसी सरेंडर करना चाहते हैं? ” के बारे में ये जानकारी अच्छी लगी होगी, अगर हाँ तो इसे अपने सभी Friends के साथ Social media पर Share जरुर करें ताकी आपकी मदद से दुसरे लोग भी इस योजना की जानकारी को पढ़ सकें, और वो इसका लाभ ले सके, कोई ऐसी जानकारी रह गयी हो और आप जानना चाहते हो तो आपके सुझाव व प्रस्ताव स्वीकार्य हैं और नीचे दिए गए comment box में टिप्पणी भी अवश्य दें! धन्यवाद..

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें:

बास्पा नंद पंचोली
संपर्क सूत्र-: 9891009400
Email-basupancholi@gmail.com
कार्यालय का पता:-
25, केजी, मार्ग, जीवन प्रकाश भवन
भारत का एलआईसी, शाखा इकाई 117 तीसरा तल,
सी.पी. नई दिल्ली -110001

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *